Breaking NewsTop NewsWorldराजनीतिवायरलविदेशसोशल मीडिया

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप नोबेल शांति पुरस्कार 2021 के लिए नामित

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस से प्रभावित दुनिया के सामने एक चौंकाने वाली खबर आई है। जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को वर्ष 2021 के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित किया गया है। दक्षिणपंथी नॉर्वेजियन राजनेता क्रिश्चियन टाइब्रिंग-ग्जेडे ने ट्रंप को इसराईल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच ऐतिहासिक शांति समझौते के लिए नामांकित किया गया है। टाइब्रिंग-ग्जेडे ने कहा कि निःसंदेह वह इस पुरस्कार के योग्य हैं क्योंकि उन्होंने अन्य राष्ट्रों के बीच शांति बनाने का बेहतरीन प्रयास किया है। नॉर्वे के सांसद टाइब्रिंग ने इस पुरस्कार के लिए ट्रंप का नाम आगे बढ़ाते हुए  दुनिया के कई विवादित मुद्दों को सुलझाने के लिए भी ट्रंप की तारीफ की है।

चार बार के सांसद और NATO संसदीय सभा में नॉर्वे के प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख टाइब्रिंग ने कहा कि ट्रंप प्रशासन ने इसराईल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच रिश्तों की शुरुआत में अहम भूमिका निभाई है। आगे उन्होंने कहा, “उनकी काबिलियत के लिए उन्हें यह सम्मान देना चाहिए। मुझे लगता है कि उन्होंने कई देशों के बीच शांति स्थापित करने के लिए इस पुरस्कार के किसी भी दूसरे नामित सदस्य की तुलना में अधिक काम किया है।” नॉर्वे के सांसद ने अपने पत्र में लिखा है कि ऐसा लग रहा है कि कई अन्य मध्य पूर्वी देश UAE के कदम का अनुसरण करेंगे। ऐसे में यह समझौता एक गेम चेंजर बन सकता है जो मध्य पूर्व को सहयोग और समृद्धि के क्षेत्र में बदल देगा। उन्होंने मध्य पूर्व से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने के ट्रंप के फैसले की भी प्रशंसा की है।बता दें कि इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शिकायत कर चुके हैं कि उन्हें नोबेल पुरस्कार देने वालों के अन्यायपूर्ण रवैये की वजह से शांति का नोबेल पुरस्कार नहीं मिला। उन्होंने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को मिले नोबेल प्राइज पर भी सवाल उठाया था।

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा नोबेल शांति पुरस्कार के साथ

ओबामा को 2009 में राष्ट्रपति चुनाव जीतने के 8 महीने बाद ही शांति पुरस्कार मिला था। इस विषय पर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था, “ओबामा को 2009 में अंतरराष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने के लिए नोबेल शांति पुरस्कार दिया गया था। जबकि तब वे सिर्फ कुछ ही दिन पहले राष्ट्रपति बने थे। खुद ओबामा को नहीं पता था कि उन्हें शांति पुरस्कार क्यों मिला है। यही एकमात्र बात है, जिस पर मैं ओबामा के साथ सहमत हूं।’’

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close