Breaking NewsTop Newsक्राइमदेशराजनीतिराजस्थानवायरलसोशल मीडिया

राजस्थान में खाप पंचायत की शर्मनाक करतूत, शुद्धिकरण के नाम पर युवक-युवती को किया निर्वस्त्र

देश को आजाद हुए 70 वर्षों से अधिक हो चुके हैं किन्तु अभी भी देश में उन्नत सोच की कमी वाले लोगों और सामाजिक संगठनों की भारी भीड़ देखने को मिलती रही है। ताज़ा मामला राजस्थान के सीकर जिले का है जहां खाप पंचायत के फरमान के बाद एक युवक- युवती को सभी के बीच निर्वस्त्र कर नहलाने का फैसला लिया गया। इस मामले में हैरानी की बात यह भी रही कि 11 दिन बीत जाने पर भी राजस्थान पुलिस को इस संबंध में सूचना नहीं मिल पाई।

(फाइल फोटो)

बता दें कि राजस्थान के सीकर जिले में एक खाप पंचायत के आदेश के बाद नेछवा ग्राम पंचायत के सोला गांव में एक युवक- युवती जो रिश्ते में चाची-भतीजा हैं, के साथ अमानवीय व्यवहार किया गया है। दरअसल यहां ग्रामीण क्षेत्र में इस चाची-भतीजे का एक आपत्तिजनक वीडियो वायरल हुआ था, जिसके बाद खाप पंचायत ने उन्हें 400 लोगों के सामने निर्वस्त्र कर नहलाने का आदेश दिया। शुद्धिकरण के नाम पर पंच- पटेलों की ओर से किए गए इस फैसले के दौरान गांव के बहुत से लोग इस अमानवीय कृत्य का विरोध करने की बजाय उनके फोटोज- वीडियोज अपने फोन के कैमरे में कैद करते रहे। किसी ने पुलिस को सूचना देना भी उचित नहीं समझा। यह अमानवीय सजा सुनाने के साथ ही खाप पंचायत के पंचों ने दोनों के परिवारों पर जुर्माना भी लगाया है। इसके तहत युवक से 31 हजार रुपए और युवती के परिवार से 22 हजार रुपए वसूले गए हैं।

बताया जा रहा है कि 21 अगस्त को हुई इस घटना की जानकारी पुलिस के पास नहीं थी। अखिल राजस्थान सांसी समाज सुधार एवं विकास न्यास के प्रदेश अध्यक्ष सवाईसिंह मालावत ने सीकर के एएसपी को इसकी लिखित शिकायत दी, जिसके बाद पुलिस ने 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है, वहीं पीड़ित परिवार ने किसी भी तरह की शिकायत करने से इनकार कर दिया, जिसके बाद पुलिस ने कोरोना नियमों के उल्लंघन और अन्य धाराओं में ही मामला दर्ज किया है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close