Breaking NewsTop Newsदेशवायरलसोशल मीडिया

प्रेम की ऐसी मिसाल कि मृत पत्नी का पुतला बनवा साथ में किया गृह प्रवेश

पति-पत्नी के रिश्तों के बीच मनमुटाव की खबरें अक्सर सुनने को मिलती हैं, जोकि पारिवारिक जीवन में सामान्य बात है। किन्तु बहुत से मामले पति-पत्नी के बीच तलाक़, एक-दूसरे का सामाजिक स्तर पर अपमान करना, बदला लेने की भावना से एक-दूसरे की हत्या तक करवा देने जैसे मुकाम तक पहुंच जाते हैं। कर्नाटक के कोप्पल जिले में रहने वाले श्रीनिवास गुप्ता नामक व्यापारी ने अपनी मृत पत्नी माधवी का सिलिकॉन का पुतला बनवा कर गृह प्रवेश करते हुए हर किसी को हैरत में डालते हुए पति-पत्नी के अलग तरह के प्रेम की मिसाल कायम की है।

ये प्रतिमा माधवी की हू-ब-हू प्रतिकृति है, इसमें स्वर्गीय माधवी को एक चटक मैजेंटा साड़ी पहनाई गई है और सोने के गहने पहनाकर सोफे पर बैठाया गया है।

व्यापारी श्रीनिवास गुप्ता की पत्नी माधवी का वर्ष 2017 में एक कार एक्सीडेंट में निधन हो गया था। जानकारी के मुताबिक, माधवी ने अपने एक नए घर का एक सपना देखा था जो अब पूरा हुआ है। ऐसे में श्रीनिवास गुप्ता ने नए घर में पत्नी का सिलिकॉन का पुतला बनवाया और उसी के साथ अपनी पत्नी के सपनों के नए घर में प्रवेश किया। बता दें कि बेंगलुरु के आर्टिस्ट श्रीधर मूर्ति ने एक साल की मेहनत के बाद उनकी पत्नी का स्टैच्यू बनाया है। इसके लिए सिलिकॉन का इस्तेमाल किया गया है।श्रीनिवास की इच्छा थी कि मोम का पुतला बनवाया जाए लेकिन आर्टिस्ट ने सलाह दी कि यह गर्म इलाका है, ऐसे में सिलिकॉन का स्टैच्यू बनाना ही बेहतर रहेगा।

अपनी दोनों बेटियों और दिवंगत पत्नी के स्टैच्यू के साथ श्रीनिवास गुप्ता

गृह प्रवेश के कार्यक्रम में जो भी मेहमान पहुंचा, उन्होंने जैसे ही सीट पर माधवी को बैठा देखा, तो वो सभी मेहमान हैरान रह गए। बाद में उन्हें पता चला कि श्रीनिवास गुप्ता ने अपनी पत्नी माधवी की मूर्ति बनवाई है। मूर्ति को एक आर्किटेक्ट की मदद से बनवाया गया है। सोशल मीडिया पर मूर्ति की तस्वीरें और वीडियो काफी वायरल हो रहे हैं।

इस मनमोहक अवसर पर श्रीनिवास गुप्ता ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि यह घर मेरी पत्नी के सपनों का आशियाना है। मैं अपनी पत्नी के लिए कुछ खास करना चाहता था। तीन साल पहले एक सड़क हादसे में उनकी मृत्यु हो गई थी। तीन साल पहले माधवी अपनी दो बेटियों के साथ तिरुपति की यात्रा कर रही थी। इस दौरान तेज रफ्तार ट्रक से बचाने की कोशिश में ड्राइवर गाड़ी से संतुलन खो बैठा और उनकी पत्नी इस हादसे में चल बसी। दोनों बेटियां हादसे में घायल हुई थीं, जो अब पूरी तरह ठीक हो चुकी हैं। लेकिन माधवी की मौत से परिवार टूट गया। इसके बाद उन्होंने अपनी पत्नी की याद में एक घर बनाने का फैसला किया।

आखिरकार उनके सपनों का आशियाना और पत्नी माधवी की मूर्ति दोनों तैयार हुए और उन्होंने अपनी पत्नी की मूर्ति के साथ गृह प्रवेश किया। इस दौरान वह काफी भावुक भी नजर आ रहे थे। गृह प्रवेश में जिसने भी इस मूर्ति को देखा, हर कोई हैरान रह गया। हर कोई श्रीनिवास गुप्ता के इस प्यार की चर्चा कर रहा है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close