Breaking NewsTop NewsWorldउत्तर प्रदेशदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरलविदेशसोशल मीडिया

अयोध्या को विश्व की सबसे उत्तम नगरी बनाना मेरा संकल्प- योगी आदित्यनाथ

पांच शताब्दियों के इंतजार के बाद आज अयोध्या में इतिहास रचा गया है। लंबे समय तक अदालतों में मामला चलने के बाद आज पवित्र भूमि अयोध्या में श्रीराम मंदिर की नींव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रखी गई है। गौरतलब है कि बुधवार को अयोध्या में श्रीराम मंदिर का भूमि पूजन भी किया है। पीएम मोदी ने आज अयोध्या पहुंच हनुमानगढ़ी में पूजा करने के बाद रामलला के दर्शन किए। जहां श्रीराम को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साष्टांग दंडवत प्रणाम किया।

अयोध्या में श्रीराम मंदिर के लिए भूमि पूजन के कार्यक्रम के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि पांच सदी के बाद आज 135 करोड़ भारतवासियों और करोड़ों रामभक्तों का संकल्प पूरा हो रहा है। देश में लोकतांत्रिक तरीकों के साथ ही मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। इस घड़ी की प्रतीक्षा में हम सबकी कई पीढ़ियां गुजर चुकी हैं। सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सूझबूझ और प्रयासों के कारण आज यह संकल्प शांतिपूर्वक तरीके से पूरा हो रहा है। हमने तीन साल पहले अयोध्या में दीपोत्सव का कार्यक्रम शुरू किया था, आज उसकी सिद्धी हो रही है। सीएम योगी ने कहा कि सरकार की ओर से पहले रामायण सर्किट का काम शुरू किया गया, साथ ही अयोध्या में विकास कार्य हो रहा है।

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम सर्वोत्तम मानवीय गुणों का स्वरूप हैं। वे हमारे मन की गहराइयों में बसी मानवता की मूल भावना हैं। आज के कार्यक्रम को लेकर बनाए गए मंच पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास समेत केवल पांच लोग ही उपस्थित हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस समय जारी परिस्थितियों के कारण सीमित संख्या में लोगों को बुलाया जा सकता था लेकिन आगे चलकर मंदिर निर्माण से जुड़ी कई गतिविधियों के लिए देश की गणमान्य हस्तियों को बड़ी संख्या में जोड़ा जाएगा।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि भारत की न्यायपालिका और कार्यपालिका के साथ संविधान सम्मत तरीके से समस्याओं का समाधान कैसे हो सकता है इसका प्रत्यक्ष दर्शन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी देशवासियों को कराया है। इस शुभ घड़ी के लिए अनेक पूज्य लोगों ने अपना बलिदान दिया है और उनको आज हम भावपूर्ण तरीके से याद करते हैं। लोकतांत्रिक तरीके से इस समस्या का समाधान निकलवाने के लिए पीएम मोदी का आभार प्रकट करता हूं।

पूरी दुनिया में सनातन धर्म के प्रति शुभेच्छा का भाव रखने वालों करोड़ों भक्तों की भावनाओं को पूरा करने वाले भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close