Breaking NewsTop Newsक्राइमवायरलहरियाणा

तांत्रिक की सलाह मान जुम्माद्दीन ने अपने 5 बच्चों को मार डाला, गुनाह कबूला

देश में हर कोई कोरोना वायरस नामक वैश्विक महामारी से बचने और अपनों को बचाने का प्रयास कर रहा है। वहीं हरियाणा राज्य के जींद जिले से एक चौंकाने वाली खबर आई है कि जुम्माद्दीन नामक एक शख्स ने अपने 5 बच्चों की हत्या कर दी है। आरोपी पिता ने गांव वालों के सामने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया है।
जींद जिले के डिडवाड़ा गांव में 15 जुलाई की रात को 45 वर्षीय जुम्माद्दीन की दो बेटियां मुस्कान (11) और निशा (7) लापता हो गई थीं। प्रशासन और ग्रामीणों द्वारा लगातार खोजबीन करने के तीन दिन बाद दोनों बच्चियों के शव नहर में मिले थे। वीरवार को जुम्माद्दीन गांव के सरपंच संजीव के भाई प्रमोद के पास गया और उसे बताया कि उसने ही अपनी दोनों बेटियों को मारकर नहर में फेंका था। इससे सरपंच व ग्रामीण हैरान रह गए। गांव वालों ने सवाल-जवाब करते हुए जांच की तो जुम्माद्दीन ने कहा कि इससे पहले भी वह अपने दो बेटों और एक बेटी को मार चुका है। उसने यह भी बताया कि वह कैथल के एक तांत्रिक के संपर्क में था और तंत्र विद्या के चक्र में बच्चों की हत्या की है। जुम्माद्दीन मजदूरी करता है और उसकी पत्नी छठे बच्चे के साथ गर्भवती है। गर्भवती पत्नी रीना ने बताया कि यह तो बहुत ही शांत स्वभाव के हैं। इन्होंने मुझे और बच्चों को कभी भी नहीं डांटा। इन्हें तो बच्चों के भविष्य की इतनी ज्यादा फिक्र रहती थी कि आर्थिक तंगी होने के बावजूद भी अपना 20 लाख रुपए का बीमा करवाया हुआ था ताकि दुर्भाग्यवश इन्हें कुछ हो जाए तो बच्चों को भीख नहीं मांगनी पड़े। पांच बच्चों की हत्या करने वाले इस दरिंदे को सरेआम फांसी दे देनी चाहिए या फिर गोली मार देनी चाहिए।

अचानक हुई दो बच्चियों की मौत से ग्रामीणों में जुम्माद्दीन के प्रति सहानुभूति थी लेकिन जैसी ही उन्हें सच्चाई का पता चला तो उन्होंने उसे काबू कर लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। जानकारी के मुताबिक, आरोपी जुम्माद्दीन ने ग्रामीणों से कहा कि उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और वह बच्चों का पोषण नहीं कर सकता था। इसलिए 15 जुलाई की रात को उसने दोनों बच्चियों को जहर दे दिया। जब वह दोनों बेसुध हो गईं तो गला दबाकर नहर में फेंक कर आ गया। तीन साल पहले उसने तीन वर्षीय लड़के व चार वर्षीय लड़की की हत्या की थी। यही नहीं, उसने करीब डेढ़ साल पहले अपनी डेढ़ साल की एक लड़की की भी हत्या की थी, लेकिन तब उसने ग्रामीणों को यह कहते हुए गुमराह कर दिया था कि उसके बच्चे बीमार थे। इस घटनाक्रम से जहां ग्रामीण हैरान हैं तो बच्चों में डर का माहौल बना हुआ है। शुरुआती जांच में यही पता चल रहा है कि आरोपी जुम्माद्दीन किसी तांत्रिक के कहने पर ही इन वारदातों को अंजाम देता रहा है। अडिशनल एसपी अजीत सिंह शेखावत ने बताया कि आरोपी ने अपने किसी भी बच्चे की मौत के बाद उसका पोस्टमॉर्टम नहीं करवाया। 15 जुलाई को दो बच्चियों के लापता होने का केस दर्ज किया गया था लेकिन शव बरामद होने के बाद हमें शक हुआ और हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। कथित तौर पर जुम्माद्दीन ने ही अपनी बेटियों को कोई नशीली दवा देकर गहरी नींद में सुला दिया और हांसी ब्रांच नहर में फेंक आया। पुलिस ने आरोपी जुम्माद्दीन और कैथल के तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया है।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close