Breaking NewsTop Newsक्राइममध्य प्रदेश

शिवराज सरकार ने नाप दिये ‘प्यारे मियां’ कई मासुमों को बनाया था हवस का शिकार

भोपाल:  मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार का नाबालिग लड़कियों को हवस का शिकार बनाने प्यारे मियां के खिलाफ सख्त एक्शन देखने को मिला है । राजधानी भोपाल (BHOPAL) में नाबालिग लड़कियों से रेप (Minor girl rape) के आरोपी प्यारे मियां की एक और दरिंदगी सामने आई है. प्यारे मियां रेप के बाद गर्भवती हुई लड़कियों का अबॉर्शन करा देता था. इसके लिए उसने पुराने शहर में स्थित एक प्राइवेट नर्सिंग होम को चुन रखा था. वह खुद को बच्चियों का अब्बू बताता था ।

बताया जा रहा है कि प्यारे मियां बच्चियों को अपने फ्लैट में ले जाकर शराब पिलाता था, फिर डांस करवाता था और उसके बाद उनसे रेप करता था. जो लड़कियां गर्भवती हो जाती थीं, उन्हें शहर के एक प्राइवेट अस्पताल में ले जाकर उनका गर्भपात करा देता था. आरोपी खुद को डॉक्टरों के सामने बच्चियों का अब्बा बताता था. इस दौरान वो डॉक्टरों को पत्रकारिता का रौब भी दिखाता था. पूछताछ में आरोपी प्यारे मियां ने उस अस्पताल का नाम भी बताया है, जहां पर लड़कियों का अबॉर्शन कराया गया. पुलिस अब आरोपी के बयान के बाद अस्पताल के डॉक्टर से भी पूछताछ करेगी ।

चाइल्ड लाइन और पुलिस लगातार पीड़ित बच्चियों से पूछताछ कर रही है. इसी पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं जिनके कारण प्यारे मियां की काली दुनिया का पर्दाफाश हुआ
है।  सूत्रों की मानें तो आरोपी प्यारे मियां ने एक बच्ची के साथ इंदौर में कई बार रेप किया. जब बच्ची गर्भवती हो गई तो उसकी सबसे पहले इंदौर में सोनोग्राफी कराई गई और इसके बाद शाहजहांनाबाद स्थित अस्पताल में अबॉर्शन कराया गया. बच्चियों के इस खुलासे के बाद अब अस्पताल स्टाफ भी रडार पर आ गए हैं. पुलिस जल्द अस्पताल के स्टाफ से भी पूछताछ करने की तैयारी में है ।

बतादें कि इससे पहले एसआईटी प्यारे मियां को श्रीनगर से गिरफ्तार कर गुरुवार को भोपाल लायी है. उसके बाद से पुलिस कंट्रोल रूम में लगातार उससे पूछताछ की जा रही है. शुक्रवार को उसे भोपाल में स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा. यहां से आरोपी को रिमांड पर लिया जाएगा. पुलिस अधिकारियों का कहना है नाबालिग लड़कियों ने जो घटनास्थल बताए हैं, वहां भी आरोपी प्यारे मियां को ले जाया जा रहा है और  आरोपी से लगातार पूछताछ की जा रही है ।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close