Breaking Newsबिहारराजनीतिवायरल

बिहार में ठेले पर बैठ कोरोना सेंटर जाते हैं डॉक्टर, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप ने तस्वीर साझा की

देश कोरोनावायरस नामक गंभीर बीमारी से जूझ ही रहा था कि अब देश में मानसून दस्तक दे चुका है जिससे देश में स्वास्थ्यकर्मियों के लिए एक और चुनौतीपूर्ण स्थिति बनती जा रही है। हस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाओं का अभाव और कोरोना के साथ मौसमी बीमारियों के भी बढ़ रहे मरीजों के बीच अंसतुलित व्यवस्था का खामियाजा फ्रंट लाइन पर काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों को भुगतना पड़ रहा है । ताज़ा मामला बिहार का है जिसमें कई दिनों तक हुई बारिश में कोविड केयर सेंटर के परिसर में घुटने से भी ज्यादा पानी भर गया है। जिसके कारण डॉक्टरों और नर्सों को आने-जाने में काफी असुविधा हो रही है। ‘कोरोना केयर सेंटर’ में जिन नर्सों और डॉक्टरों की ड्यूटी लगी हुई है, उन्हें मुख्य सड़क से अंदर कमरे तक जाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए डॉक्टर ठेले पर सवार होकर ‘कोविड केयर सेंटर’ तक पहुंच रहे हैं और मरीजों का इलाज कर रहे हैं। संवेदनशील इलाकों में जलजमाव के कारण मच्छरों का पनपना तय है, जिससे बुखार की समस्या भी बढ़ सकती है ।

बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने बारिश के पानी में डूबे ‘कोरोना केयर सेंटर’ की तस्वीर को ट्वीट कर बिहार सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठाया है। तेजप्रताप ने इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए सुशासन बाबू पर तंज कसा है। उन्होंने लिखा है बदसूरत “विकास” की खूबसूरत तस्वीर..! स्वास्थ्य विभाग की इस बदहाली की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। बता दें कि ये तस्वीर सुपौल जिले के नगर पंचायत के वार्ड नंबर-12 की है। ‘पब्लिक रेस्ट हाउस’ में बने कोविड केयर सेंटर की स्थिति काफी दयनीय नजर आ रही है। गौरतलब है कि कुछ महीने बाद बिहार में विधानसभा चुनाव होने हैं । जिसमें नीतीश कुमार और भाजपा का एक साथ मिलकर चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है और अब तक कांग्रेस ने अपने सहयोगी दलों को लेकर कोई घोषणा नहीं की है ।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close