Top Newsदेशमध्य प्रदेश

शिवराज सरकार फिर हुई शर्मसार, किसान दंपति ने पुलिस के सामने पीया कीटनाशक

मध्यप्रदेश प्रदेश के गुना जिले से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने पूरे प्रदेश को शर्मसार करने का काम किया है, दरअसल गुना में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हटाने गई पुलिस और प्रशासन की टीम के सामने एक किसान दम्पति ने आत्मघाती कदम उठाते हुए एक कीटनाशक पी लिया, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जिसमें महिला की हालत नाजुक है। इस घटना की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं और लोग शिवराज सरकार से इंसाफ की गुहार लगा रहे हैं।

पूरे मामले को जानें
यह घटना गुना जिले से सामने आई है जहां जगनपुर चक्र के पास सरकारी पीजी कॉलेज की जमीन पर राजकुमार अहिरवार लंबे समय से खेती कर रहा था। बीते दिन मंगलवार को दोपहर अचानक गुना नगर पालिका का अतिक्रमण हटाओ दस्ता एसडीएम के नेतृत्व में वहां पहुंचा और राजकुमार द्वारा बोई गई फसल पर जेसीबी चलवाना शुरू कर दिया। जैसे ही राजकुमार ने विरोध किया तो उसे पुलिस ने पकड़ लिया और लाते-घूंसे भी बरसाई गईं। इस मामलें में किसान राजकुमार का कहना था कि यह उसकी पैतृक जमीन है। उसके दादा-परदादा इस जमीन पर खेती करते आ रहे हैं। उसके पास पट्टा नहीं है। उसने 4 लाख रुपए का कर्ज लेकर बोवनी की है। अब फसल अंकुरित हो आई है। इस पर बुल्डोजर न चलाया जाए, मेरे परिवार में 10-12 लोग हैं।  अतिक्रमण हटा रहे दस्ते ने उनकी एक बात नहीं सुनी जिसके बाद पीड़ित किसान  वहीं खेत में बनी झोपड़ी में गया और बोतल में रखा कीटनाशक पी लिया। जिस पर पति को जहर पीता देख उसकी पत्नी ने भी कीटनाशक पी लिया। जिसके बाद अतिक्रमण दस्ते के कर्मचारियों ने दोनों को पकड़ने का प्रयास किया तो वहीं दोनों ने अस्पताल जाने से मना कर दिया।

इसके बाद पुलिस ने दोनों को घसीट कर गाड़ी से अस्पताल पहुंचाया और उनका इलाज शुरु कराया । बताया जा रहा है कि अस्पताल में किसान राजकुमार की पत्नी की हालत नाजुक बनी हुई  है। सोशल मीडिया पर इस घटना की जमकर आलोचना हो रही है और लोग शिवराज सरकार के खिलाफ गुस्सा जाहिर कर रहे हैं ।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close