Breaking NewsTop Newsजम्मू-कश्मीरदेशनई दिल्लीराजनीतिवायरल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे लद्दाख, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ और आर्मी चीफ भी रहें मौजूद

अक्सर अपने निर्णयों से देश की जनता के साथ विदेशियों को भी चौंकाने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज शुक्रवार की सुबह होने से पहले ही लेह-लद्दाख पहुंच कर देश की सेना तथा देशवासियों को अचंभित कर दिया है। पीएम मोदी के इस दौरे की तस्वीरें अब सामने आने लगी हैं। भारत के प्रधानमंत्री का यह दौरा चीन को एक सख्त संदेश भी है कि देश फौज के साथ खड़ा है। पीएम मोदी के साथ इस दौरे पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ एम एम नरवणे भी मौजूद हैं।

पीएम मोदी लेह एयरपोर्ट से नीमू पहुंचे।
नीमू एक फॉरवर्ड लोकेशन पर हैं। यह इलाका सिंध नदी के किनारे पर और जांस्कर रेंज से घिरी हुई बहुत ही दुर्गम जगह है। यह 11000 फीट की ऊंचाई पर स्थिति एक गांव है, जिसकी सीमा पाकिस्तान के हिस्से से जुड़ती है। भारतीय सैनिकों और चीनी सेना के बीच 15 जून की रात हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों ने अपनी जान गंवा दी थी‌।प्रधानमंत्री मोदी यहां की स्थिति की समीक्षा करने के लिए इस दौरे पर गए हैं । यहां सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने उन्हें स्थिति से अवगत कराया है । पीएम मोदी ने यहां पर सेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों से भी मुलाकात की । जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी लेह में भर्ती उन जवानों से मिलेंगे जो गलवान में हुई हिंसक झड़प में घायल हुए थे ।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा था, ‘लद्दाख में भारत की जमीन पर आंख डालने वालों को सही जवाब दे दिया गया है। अगर भारत को दोस्ती निभानी आती है तो उसे ऐसे मौकों पर सही जवाब भी देना आता है। हमारे बहादुर सैनिकों ने यह साफ कर दिया कि वो किसी को भी भारत माता की आन पर आंच नहीं डालने देंगे।’ पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ चल रहे सीमा पर तनाव के बीच प्रधानमंत्री मोदी का यह दौरा कई मायनों में अहम माना जा रहा है ।

भारत सरकार द्वारा देश की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाने के बाद सारी दुनिया की नजरें भारत के हर कदम टिकी हुई हैं । माना जा रहा है कि बॉर्डर पर पहुंचकर सैनिकों से मुलाकात कर पीएम मोदी चीन को कड़ा संदेश देना चाहते हैं।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close