Top Newsनई दिल्ली

माय होम इंडिया के मंच पर दिखा पूर्वोत्तर भारत, सांस्कृतिक और संगीतमय कार्यक्रमों की रही धूम

दिल्ली के जवाहर लाल नहेरु स्टेडियम में “माई होम इंडिया” NGO द्वारा आयोजित “नेस्ट-फेस्ट 2019’ कार्यक्रम में पूर्वोत्तर राज्यों के नूतन छात्रों का स्वागत किया गया। इस सांस्कृतिक व संगीतमय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि लोकसभा स्पीकर ओम विरला जी ने पूर्वोत्तर के छात्रों के लिये लोकसभा में छात्र संसद के लिये आमंत्रित किया। जहां वो अपनी समस्याएं और सुझाव रख सकते हैं। उत्तर पूर्वी राज्यों के लोगों का आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि आप लोग भारत की सीमाओं के प्रहरी हैं। साथ ही अपनी सांस्कृतिक धरोहर को भी सहज कर रखते हैं।

दिल्ली में पूर्वोत्तर के लगभग साढ़े 3 लाख छात्र रहते हैं। जो पूर्वोत्तर की सँस्कृति, संस्कार और सभ्यता के दूत हैं। ओम बिरला ने विद्यार्थियों का आह्वान करते हुये कहा कि लोकतंत्र को मजबूत करने के लिये एकजुट हों और राष्ट्र के विकास में सकारात्मक भूमिका भूमिका निभायें।

भारत सरकार के खेल मंत्री श्री किरण रिजिजू जी ने माय होम इंडिया द्वारा आयोजित नेस्ट फेस्ट  2019 के अवसर पर पूर्वोत्तर भारत के छात्रों को संबोधित करते हुये कहा कि “value of Indian citizenship is great”. दुनिया के कई देशों के नागरिक अपने ही देश में मौलिक अधिकारों के लिये संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन भारत दुनिया के उन कुछ देशों में से एक है जहां नागरिकों को सभी और समान अधिकार है।

वर्तमान सरकार बहुत परिश्रम से पूर्वोत्तर भारत के लिये काम कर रही है। पूर्वोत्तर राज्य  के लोगों को आज सरकार से कुछ मांगना नहीं पड़ता बल्कि आज सरकार नॉर्थ ईस्टर्न लोगों से पूछती है कि उन्हें क्या चाहिए।

मोदी जी सभी मंत्रालय से लगातार प्रोग्रेस रिपार्ट लेते हैं कि पूर्वोत्तर के लिए क्या काम किये गये हैं। पूर्वोत्तर बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। मेरा विश्वास है कि 10 सालों में पूर्वोत्तर “major economic hub”बनेगा।

रिजीजू ने कहा कि पूर्वोत्तर भारत का मात्र वाटर “surplus”रीजन है। नार्थ ईस्ट की धरती पर यूरेनियम, कोल, पेट्रोलियम से लेकर सभी “natural resources”हैं।जिन्होंने नार्थ ईस्ट नहीं देखा उन्होंने भारत नही देखा।

उन्होंने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि 2028 के ओलंपिक में  नार्थ ईस्ट भारत के लिए बड़ी उपलब्धि हासिल करेगा।

https://www.youtube.com/watch?v=SbsiWdrsbYs

Nest fest 2019के अवसर पर भारत सरकार के खाद्य एवं प्रसंस्करण राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी अक्सर बोलते हैं कि पूर्वोत्तर आर्गेनिक खेती का हब है।

2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिये सरकार प्रतिबद्धता से काम कर रही है। आठों प्रदेशों में मेगा फ़ूड पार्क के लिये जगह देखी जा रही है। साथ ही सरकार किसानों को इसके लिए बड़ी सब्सिडी भी देगी।

माई होम इंडिया के संस्थापक सुनील देवधर ने पूर्वोत्तर राज्यों की क्षेत्रिये भाषाओं में अभिवादन किया और कार्यक्रम के स्वरूप को देखते हुए पूर्वोत्तर राज्य की क्षेत्रिय भाषा में गाना गाकर उनको नई भाषा सीखने के लिये प्रोत्साहित किया । यह जानकर हैरानी नहीं होगी कि सुनील देवधर को पूर्वोत्तर भारत की कई क्षेत्रिय भाषाएं सहज रूप से बोलना आती हैं ।

माई होम इंडिया के संस्थापक ने इस अवसर पर संस्था की 24*7 घंटे चलने वाली हेल्पलाइन के बारे में बताया और कहा कि संस्था आपको आश्वासन देती है कि आप हमें कॉल करेंगे तो हम आपकी मदद करने के लिये 1 घंटे के अंदर में आप तक पहुंचेगे और आपकी हर संभव मदद करेंगे ।

इसके साथ ही उन्होंने नेस्ट-फेस्ट के आयोजन के पीछे का उद्देश्य बताते हुए कहा कि माय होम इंडिया नेस्ट-फेस्ट महोत्सव शेष भारत के लोगों को पूर्वोत्तर भारत के लोगों से जोड़ने के लिये आयोजित करती है और उन्हें पूर्वोत्तर की संस्कृति से परिचित कराने का भी कार्य करती है ।

पूर्वोत्तर भारत के संदर्भ में बोलते हुए कहा कि मोदी सरकार की सक्रियता और जागरूकता अभियान के चलते पिछले 5 सालों में भारत के दूसरे हिस्सों में पूर्वोत्तर के छात्रों के साथ होने वाले भेदभाव और दुर्घटनाओं में बहुत कमी आयी है।

मोदी जी हीरा (HIRA) हैयानि Highways, I-Ways, Roadways और Airways के माध्यम से पूर्वोत्तर के विकास की success story लिख रहे हैं।

देवधर जी ने शेष भारत के लोगों से अपील करते हुए कहा है कि पूर्वोत्तर भारत हमारे हृदय में होना चाहिए और वर्ष में एक बार हमें वहां अवश्य जाना चाहिए ।

जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में अपने भाषण में मणिपुर के औद्योगिक मंत्री विश्वजीत सिंह ने कहा कि युवा ही देश की शक्ति है। राष्ट्र को मजबूत बनाने के लिये सभी युवाओं को आगे आना चाहिये।हम सब एक हैं। हम सब भारतीय हैं। हमें कभी भी आपस में लड़ना नहीं है।

अरुणाचल प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ताबा तेदिर  ने छात्रों से कहा कि आप नार्थ ईस्ट की संस्कृति के ब्रांड अम्बेसडर हैं इसलिये अपने कार्यों से देश के दूसरे हिस्सों में भी पूर्वोत्तर की छवि को मजबूत बनाने का काम करें।North east में adventure एक्टिविटी को बढ़ाना है। युवाओं के ऊर्जा को देश हित में बेहतर से प्रयोग करना है।

संजय राय ने कहा कि रोजगार सृजन की शुरुआत अब गांवों से शुरु हो चुकी है। पूर्वोत्तर में फूलों की खेती करके महिलाएं साल में ढाई लाख रुपये तक आराम से कमा रही हैं। मंदी नहीं हुयी बल्कि मोड ऑफ बिजनेस बदल गया है।

“माई होम इंडिया” पूर्वोत्तर के छात्रों को शेष भारत से जोड़ने के लिए कई कार्यक्रम चलाते हैं।ये संस्था नार्थ ईस्ट के नूतन छात्रों के स्वागत के लिए देश के कई हिस्सों में पिछले कई सालों से “नेस्ट फेस्ट कार्यक्रम” आयोजित करती आयी है।

त्रिपुरा के 12 साल के अगंशुमान नंदी ने ड्रम बजाया तो पूरा स्टेडियम झूम उठा। अरुणाचल प्रदेश के सिंगर तावा चाकी, मणिपुर के गायक गुरु रिवेन की गानों पर युवा जमकर थिरके। आसाम की जुवली बरुआ और नागालैंड की मेंगू शौकरी नागालैंडने अपनी आवाज से कार्यक्रम में समा बांधा।

इस सांस्कृतिक कार्यक्रम में उत्तर पूर्व के सभी राज्यों के संस्कृतियों की झलक देखने को मिली। पूर्वोत्तर राज्यों के सभी प्रदेशों के विद्यार्थियों ने परम्परागत परिधानों मेंअपने अपने प्रदेशों के सांस्कृतिक नृत्य पेश किये।

Tags
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close